पंजाब में कोरोना से दहशत का माहौल, हाल ही में लौटे है 90 हजार एनआरआई

कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप ने पंजाब के लोगों और पंजाब सरकार को चिंता में डाल दिया है। राज्य में हाल के दिनों में 94000 से अधिक एनआरआइ और विदेशी पहुंचे। मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक इनमें से अधिकांश को ट्रैक कर दिया गया है। लगभग 30,000 लोगों को आइसोलेशन में रखा गया है। 

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि दूरी बनाई रखना और करोना वायरस प्रभावित देशों से वापस आने वाले सभी लोगों को ढूंढना और उनकी जांच करना जरूरी है। कहा कि हाल ही के दिनों में राज्य में 94 हजार एनआरआइ व विदेशी पंजाब आए हैं।

इनमें से अधिकांश को ट्रैक कर 30000 लोगों को एकांत में रखा गया है। बाकियों को ढूंढने के भी पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि विदेश से आने वाले किसी भी नए व्यक्ति पर निरंतर निगरानी रखी जा रही है।

इससे पूर्व, पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलवीर सिद्धू ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को पत्र लिखकर कहा था कि इस माह 90 हजार NRI पंजाब पहुंचे हैं और इनमें से बहुत लोगों में कोरोना के लक्षण हैं।

ऐसे में स्वास्थ्य संबंधी तैयारियों के लिए पंजाब को तत्काल 150 करोड़ रुपये का विशेष पैकेज जारी किया जाए, ताकि राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए विशेष आइसोलेशन वार्ड, आइसीयू व विशेषज्ञों की सेवाएं ली जा सकें। बता दे कि पंजाब में कोरोना वायरस के 23 मरीज सामने आ चुके हैं। वहीं, एक की मौत हो चुकी है।